छाता खरीदते समय ध्यान रखें ये बातें Umbrella buying guide Best Umbrella for Rainy Days buying tips

बरसात के इस मौसम में छाते की जरूरत तो हम सभी को पड़ती है लेकिन छाता खरीदते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए, इस बारे में कम ही लोग सोचते हैं. ज्यादातर लोग तो सिर्फ छाते का रंग और उसके ओपन बटन को चेक करके ही छाता खरीद लेते हैं.

लेकिन ऐसा करना ठीक नहीं है. अगर आपने अभी तक छाता नहीं खरीदा है और खरीदने का मन बना रहे हैं तो छाता खरीदने से पहले  दुकान पर जाकर सबसे पहले इन बातों को जान लें और उसके बाद ही अपने लिए एक बेहतर छाता का चुनाव करें.

कई बार हम लोग छाता का रंग और उसके ओपन बटन को चेक करके ही छाता खरीद लेते हैं। लेकिन ऐसा करना ठीक नहीं है जिस तरह किसी भी चीज को खरीदने से पहले उसे परख लेना आवश्यक है उसी प्रकार एक छाता खरीदने से पहले भी उसकी खूबियों को देख लेना चाहिए। छाता खरीदते समय यह भी ध्यान रखना चाहिये कि छाता ऐसा हो जो बरसात और गर्मियों दोनों मौसम में हमारे  काम आ सके।

छतरी की गोलाई अच्छी होनी चाहिए यदि हमें एक छाते के नीचे दो लोगों को जाना पड़े तो वह भीगने से बच जायें या कभी आपके पास कोई बैग बगैरह हो तो वह भी बरसात से बच जाये और साथ ही उसका हेंडल भी चेक कर ले क्योकि सबसे ज्यादा हमे उसे ही पकड़ना पड़ता है। इसलिए छाते का हैंडल आरामदायक होना चाहिए ताकि बहुत देर तक हैंडल पकड़ने पर भी हाथों में दर्द न हो।

ध्यान रहे आपके छाते की लंबाई कम से कम 10 या 11 इंच हो तो होनी ही चाहिए। और साथ ही दाम देखकर कभी भी छाता नहीं खरीदें, छाते की क़्वालिटी का विशेष ध्यान दें।  

छाते का शाफ्ट मजबूत होना चाहिए छाता खरीदते समय उसके कपडे पर विशेष ध्‍यान दें क्योंकि तेज बरसात के दौरान वहीं आपको भीगने से बचाता है अक्‍सर तेज बारिश में कुछ छाते टपकने लगते हैं या पानी को बौछारों को रोक नहीं पाते हैं तो इसका ध्‍यान रखें। 

छोटे बच्चों के लिए बाजार में कई तरह की छाते मिल जाते हैं छाते की शक्ल की  हैट और टोपियां मिलती है जो कि और हैंड-फ्री होने के साथ-साथ बारिश से बचाव भी करती हैं तो बच्चों के लिए हो सके तो वही छाते खरीदें। यह एक बेहतर उपाय है। 

इन सभी आसान से उपायों को अपनाकर आप भी अपने लिए एक अच्छे और बेहतर छाता का चुनाव कर सकते हैं।

Share on Facebook0Share on Google+0Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn0Email this to someonePrint this pageShare on Reddit0Share on Tumblr0Digg thisShare on VK

Post Author: Gurjinder Cheema

Leave a Reply